NACH क्या है, फायदे, प्रकार, उपयोग जानिए हिंदी में | NACH Full Form in Hindi (2024)

NACH क्या है

नमस्कार दोस्तो आपका हमारे एक और नए पोस्ट में स्वागत है। आज के इस पोस्ट में आप जानेंगे, NACH Full Form in Hindi यानी NACH क्या है क्योंकि RBI के गवर्नर ने अपने एक बयान में कहा की डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के अंतर्गत एनएसीएच बहुत ही पॉपुलर हो रहा है। 

इसके जरिए फायदा लेने वाले लोगो को संख्या तेजी से बढ़ रही है। अगर आप कभी बैंक गए होंगे तो आपने नच के बारे ने अवश्य सुना ही होगा। दोस्तो, क्या आपने कभी ये सोचा है की जो कंपनिया होते है वे अपने कर्मचारियों की सैलरी एक ही समय पर कैसे उनके खातों में भेज देते है? 

या अगर आप एसआईपी निवेश करते होंगे या EMI के जरिए अपना कोई समान खरदीते है तो इसमें समय पर आपके अकाउंट से पैसे काट दिए जाते है, ये ऐसा क्यो होता है? 

तो बता दे, कंपनियां या बड़े संस्थान अपने हजारो कर्मचारियो को एक ही समय में वेतन भेजने में लिए NACH और ECS का प्रयोग करते है। ये भुगतान प्रणाली है। इसके अलावा एनएसीएच हमारे मासिक EMI, बिजली बिल, पेंशन, टेलीफोन बिल, म्यूचुअल फंड एसआईपी भुगतान तय समय में भुगतान कर देता है।

इस तरह आज के इस युग को देखे तो, यह इतना डिजिटल हो गया है, की एक बार Software Data एंट्री करने के बाद वह System Time पर अपना काम पूरा कर लेता है चाहे वह Credit Payment हो या फिर Debit Payment वह एक निश्चित Date पर वर्क करता है। 

इसलिए आज हम आपको एक ऐसे ही Technology से अवगत कराने वाले है जिसके बारे में आपको जरूर मालूम होना चाहिए और उसका नाम एनएसीएच (NACH) है। 

आज इस पोस्ट में आप NACH क्या है, NACH मैंडेट क्या होता है, NACH RTN क्या होता है, NACH का फुल फॉर्म क्या है इन सभी टॉपिक्स के बारे में विस्तार से जानेंगे। 

Telegram Group👉 Click Here
WhatsApp Group👉 Click Here
Google News 👉 Click Here

NACH क्या है (What is NACH in Hindi) 

Nach क्या है : यह एक इलेक्ट्रॉनिक प्रणाली है जिसको नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया यानी NPCI द्वारा निर्मित किया गया है। भारत सरकार द्वारा डिजिटली रूप से सेवाए जैसे Electronic Transfer, Interbank, High Volume आदि प्रदान करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है। 

दोस्तों ECS को और बेहतर बनाने के लिए गवर्नमेंट द्वारा इस सिस्टम को लागू किया गया है। एनएसीएच का इस्तेमाल गवर्नमेंट द्वारा मुख्य योजनाओं की सब्सिडी प्रदान करने, वृद्धावस्था एवं अन्य पेंशन, बिजली, पानी आदि के बिल भुगतान हेतु, म्यूचुअल फंड में निवेश, टेलीफोन, बीमा प्रीमियम आदि के लिए किया जाता है।

NACH का Full Form क्या है (NSCH Full Form in Hindi)

NACH Kya Hai आपने जाना यदि हम बात करें NACH Full Form in Hindi की तो NACH का Full Form National Automated Clearing House होता है, इसका हिंदी मतलब राष्ट्रीय स्वचालित समाशोधन गृह होता है।

ECS (Electronic Clearance Service) में सुधार लाने के लिए NPCI (National Payments Corporation of India) द्वारा गठन किया गया है। 

यह भी पढ़ें : Best Demat Account in India – भारत में सबसे अच्छा डिमैट अकाउंट कौनसा है?

NACH की शुरुआत कब हुई?

यदि बात करे एनएसीएच के इतिहास की तो इसका गठन NPCI द्वारा साल 2007 में किया गया था, इससे पहले इसकी जगह ECS का इस्तेमाल किया जाता था। जिसमे कुछ सुधार करके आधुनिक रूप में NACH यानी National Automated Clearing House को लाया गया।  

इसे ECS की स्थान पर पूरी तरह से 1 मई 2016 को सभी ग्राहकों और बैंको के लिए लागू कर दिया गया। 

NACH का उपयोग क्या है?

एनएसीएच का उपयोग किसी भी तरह के बैंक खाते से पैसे का भुगतान Automatically काटने तथा किसी कम्पनी या संस्थान द्वारा एक समय मे अनेकों बैंक खाता में पैसे का भुगतान करने हेतु किया जाता है। जैसा कि एनएसीएच एक इलेक्ट्रॉनिक क्लियरिंग सिस्टम है इसलिए इसका उपयोग बहुतो प्रकार के बिल भुगतान के लिए भी किया जाता है। 

यदि कोई फाइनैन्स कंपनी है जो अपने ग्राहकों के खातो से हर महीने ईएमआई भुगतान करना चाहता है तो यह काम एनएसीएच द्वारा मुमकिन हो पाता है। इसके अलावा कोई कम्पनी, जो की एक समय में अपने सभी कर्मचारियों को वेतन देना चाहती है तो यह काम भी एनएसीएच द्वारा संपन्न हो पाता है। 

यह भी पढ़ें : (Free Download) Option Trading Strategies PDF in Hindi

NACH के फायदे क्या है (Benefits of NACH in Hindi)

NACH के निम्न फायदे है-

  • थोक में पेमेंट ले सकते हैं।
  • बिजली बिल की पेमेंट कर सकते हैं।
  • टेलीफोन बिल की पेमेंट कर सकते हैं।
  • वाटर के बिल की पेमेंट होती है।
  • अपने पैसे म्यूचुअल फंड में निवेश कर सकते हैं।
  • गवर्नमेंट इसके द्वारा सब्सिडी देती है।
  • इसके अलावा आपको इसके अनेक फायदे देखने को मिल सकते है। 

Nach Mandate क्या है (What is NACH Mandate in Hindi)

यह एक ऐसा फर्म है जिसमे आप अपने बैंक खाते से किसी भी प्रकार के भुगतान को स्वचालित करने के लिए साइन करते हैं। एनएसीएच मैंडेट के द्वारा, आप अपनी मर्जी के मुताबिक पेमेंट की राशि, पेमेंट की तिथि, पेमेंट के प्रकार (क्रेडिट/डेबिट) और पेमेंट के प्राप्तकर्ता का नाम और पता निर्धारित कर सकते हैं।

ऐसा करने से जब आपका एनएसीएच मैंडेट सक्रिय हो जाता है तब प्रति महीने पेमेंट की राशि एनएसीएच सिस्टम के माध्यम से स्वतः ही प्राप्तकर्ता के खाते में क्रेडिट हो जाती ह, और इसके अलावा एनएसीएच मैंडेट के माध्यम से स्वतः ही प्राप्तकर्ता के खाते से Debit भी हो जाती है। 

जैसे की अगर आपने किसी कम्पनी या बैंक से लोन लिया है। तब इसका पेमेंट करने के लिए एक निश्चित तारीख निर्धारित होती है और वह EMI उस तिथि पर Automatics ही Bank/Company के द्वारा काट लिया जाता है। यह कार्य एनएसीएच मैंडेट द्वारा ही होता है। 

NACH Mandate के प्रकार (Types of NACH Mandate in Hindi)

दोस्तों अब यदि बात किया जाए NACH Mandate के प्रकार की तो इसके बारे में हमने नीचे विस्तार से बताया हुआ है –

1. NACH Credit Payment 

दोस्तों जैसे की इसके नाम से ही पता चलता है, की इससे लाभार्थी ग्राहकों के खातों से स्वतः ही किसी भी तरह के क्रेडिट जैसे:- ब्याज, लाभांश, सरकारी योजना के लाभ या सहायता राशि, वेतन, पेंशन, छात्रवृति आदि होती है। 

देखिए नेशनल ऑटोमेटेड क्लियरिंग हाउस एक इलेक्ट्रॉनिक प्रणाली है। जिसके कारण इसमें किसी भी प्रकार की क्रेडिट electronic payment service द्वारा किया जाता है। 

1.1. NACH Credit Payment के Features 

वही बात करे एनएसीएच क्रेडिट पेमेंट के फीचर की तो, यह प्रणाली प्रतिदिन दस मिलियन लेन देन करने की छमता रखने वाला मापनीय प्रणाली है। और NACH Credit ISO20022 संदेश सेवा मानक पर कार्य करने वाला प्रणाली है जिसमें ACK/NACK के साथ ट्रांजेक्शन फाइल स्टेटस ट्रैकिंग भी शामिल है।

इसके आलावा एनएसीएच क्रेडिट एक ही बार में बहुतों ग्राहकों के खातों से क्रेडिट करने का अनुमति प्रदान करती है। 

1.2. NACH Credit Payment Benefits

एनएसीएच क्रेडिट प्रायमेंट के फायदे निम्नलिखित है – 

  • सबसे पहला तो NACH प्रतिदिन 10 मिलियन तक का ट्रांजैक्शन भर उठा सकता है। 
  • किसी भी प्रकार का समस्या या विवाद होने कर ऑनलाइन सुविधा मिलती है। 
  • इसका उपयोग करके आप किसी बहुत सारे फाइल्स को एक साथ संग्रहित कर सकते है, और यह वेब एक्सेस द्वारा अनुमति मिलने पर आपके दस्तावेजों को सुरक्षित रूप से अपलोड करता है। 
  • DCA यानी डायरेक्ट कॉर्पोरेट एक्सेस अपने संगठनों की सरल प्रोसेस और लेनदेन संबंधी गतिविधियों पर नजर रखने के लिए एनएसीएच को और बेहतर एक्सेस और कुशलता प्रदान करता है।

2. NACH Debit Payment क्या है

दोस्तों जैसे की इसके नाम से ही पता चलता है, की इससे लाभार्थी ग्राहकों के खातों से स्वतः ही किसी भी तरह के डेबिट जैसे ईएमआई ,बीमा प्रीमियम,बकाया बिल,टेलीफोन बिल,टैक्स,म्यूचूअल फंड SIP आदि कर दिया जाता है।

दोस्तों एनएसीएच डेबिट पेमेंट बैंक, संगठन, फाइनेंस कंपनी, बीमा कम्पनी या अन्य कोई भी कॉरपोरेट सेंसर बकाया राशि का भुगतान करता है। 

NACH Mandate का उपयोग कैसे करें? 

NACH क्या है, NACH Mandate क्या है इसे आपने जाना। अगर बात करें एनएसीएच मैंडेट का उपयोग कैसे करे, तो जब भी आप किसी भी प्रकार के लोन या म्यूचुअल फंड, एसआईपी में निवेश करते है, 

और यदि आप चाहते है की आपका तय अमाउंट स्वतः ही आपके खाते से निश्चित तारीख को डेबिट हो जाए तो आप एनएसीएच मैंडेट का फॉर्म भर सकते है। जिसमे आपको निम्नलिखित चीज करना है-

  • सबसे पहले तो आपको लोन अमाउंट या ईएमआई राशि को भरना है। 
  • साथ ही राशि ऑटो डेबिट मासिक, तिमाही या वार्षिक का भी चयन कर लेना है। ताकि आपके खाता से राशि उसी आधार पर काटा जा सके। 
  • इसके बाद सारी जानकारी भरने के बाद आपको उस फॉर्म पर अपना हस्ताक्षर कर देना है 

ध्यान दें आपको हस्ताक्षर वही करना है जिसे आप बैंक में करते आए है। इसके बाद फॉर्म को बैंक के पास जमा कर देना है जिसे बैंक NPCI को भेज देता है। कुछ दिनों बाद आपका एनएसीएच मैंडेट सुविधा सक्रिय हो जायेगा।  

NACH मैंडेट के क्या लाभ है?

दोस्तों एनएसीएच मैंडेट द्वारा आपको पेमेंट को याद रखने, Online Transfer करने, Cheque Issue करने, CIBIL Score Affect होने, Late Fee Pay करने आदि से छुटकारा मिलती है। नच मैंडेट सुगम, सुरक्षित, समय बचत, प्रभाव, प्रामाणिक, लागत प्रभावी, पर्यावरण-अनुकूल होता है। 

अगर आप एनएसीएच मैंडेट में Sign होना चाहते है तो इसके लाए आपको आप नीचे टिप्स को फॉलो कर सकते है- 

  • सबसे पहले बात करते है Offline process की, आपको NACH मैंडेट form fill up and sign करना होगा, और इसके बाद फॉर्म को सबमिट करना होगा।
  • Online process, इसमें आपको e-NACH मैंडेट form Fill Up and Sign (OTP or net banking) करवाना होता है। और form submit करना होता है।

NACH RTN Charge क्या होता है (What is NACH RTN Charge in Hindi)

NACH RTN यानी National Automated Clearing House Return है। यह एक ऐसा लेनदेन है जो NACH सिस्टम के द्वारा अस्वीकृत या असफल हो जाता है। और इसका कई कारण हो सकता है जैसे- 

  • आपके अकाउंट में पर्याप्त शेष राशि का नही होना। 
  • बैंक अकाउंट का सक्रिय नही होना। 
  • मैंडेट को रद्द करना
  • मैंडेट की समयावधि समाप्त होना
  • मैंडेट की जानकारी में गलती होना
  • बैंक की तकनीकी समस्या होना

NACH RTN एक्टिव हो जाने पर, प्राप्तकर्ता (जिसे पैसे मिलते हैं) को NACH RTN चार्ज का भुगतान करना पड़ता है। अब NACH RTN चार्ज की मात्रा कितनी है वह प्राप्तकर्ता (जिसे पैसे मिलते हैं), भुगतानकर्ता (जिससे पैसे काटे जाते हैं) और बैंक के बीच की समझौते पर निर्भर करती है।

NACH RTN से कैसे बचे?

अगर आप एनएसीएच मैंडेट आरएनटी से बचना चाहते है तो इसके लिए आपको नीचे लिखे बातो को अच्छे से पढ़ना चाहिए – 

  • NACH मैंडेट को समय, संदेश, प्रकार, मात्रा पर ध्यान दे।
  • NACH मैंडेट को सही तरीके से और समय-समय पर अपडेट करते रहे। 
  • जब भी आप NACH मैंडेट को cancel or modify करते है तो करने से पहले bank or Beneficiary (प्राप्तकर्ता) से confirm करें।
  • RNT से बचने के लिए आपको अपने बैंक अकाउंट में पर्याप्त बैलेंस रखना चाहिए। 
  • NACH मैंडेट के लिए आपको अपने Bank Account को Active और valid रखना है।
  • इसके साथ ही NACH मैंडेट के लिए आपको NACH RNT की policy, procedure, charges, and dispute resolution mechanism के बारे में बैंक से जानकारी रखना चाहिए।

ECS क्या है (What is ECS in Hindi)

दोस्तो जब आप NACH मैंडेट साइन कर लेते है तो भुगतान करने के लिए बैंकिंग सिस्टम ECS का इस्तेमाल करती है। ईसीएस का पूरा नाम – इलेक्ट्रॉनिक क्लियरिंग हाउस (Electronic Clearing House) है। इसे RBI ने Introduce किया है। 

इस सिस्टम का उपयोग करने से लेनदेन में पाने वाले और भुगतान करने वाले दोनो की ही सहूलियत हो जाती है।

ECS के प्रकार (Types of ECS in Hindi)

ईसीएस का इस्तेमाल हम तब करते है जब हमे बहुत सारा लेनदेन करना होता है। आईसीएस दो प्रकार के होते है – 

ECS Credit: जब किसी संस्था या कंपनी को एक साथ बहुत सारे कर्मचारियों के खाते में वेतन की राशि क्रेडिट करनी होती है, या जैसे लाभांश, ब्याज, पेंशन आदि का पैसा जब ग्राहकों को देना होता है, तो कम्पनी ईसीएस क्रेडिट सुविधा का प्रयोग करते है।

ECS Debit: जब किसी कंपनी, बैंक या संस्था को अपने ग्राहकों के खातों से एक बड़ी संख्या में पैसा निकालना होता है या जैसे टेलीफोन बिल, बिजली का बिल, लोन की किस्त, म्यूच्यूअल फण्ड की ट्रांसक्शन आदि का पैसा जब ग्राहकों से लेना होता है तब इसके लिए ईसीएस डेबिट की सुविधा का प्रयोग करते है।

NACH और ECS में क्या अंतर है?

NACH Full Form in Hindi : जैसे की आज कल लगभग लेनदेन का सारा काम Internet Banking (Online banking) के द्वारा होता है। NACH UPI Based Activation है। जिसके कारण इसमें किसी भी साइन की जरूआत नही होता और 7 दिनो से अंदर Active हो जाता है। 

वहीं ECS जो की पुराना Clearing System है, जिसके लिए भुगतान करने वाले का Sign होना बहुत जरूरी है। यह प्रोसेस थोड़ा धीमी गति से होता है।

क्या नाच फंड ट्रांसफर सिक्योर है?

दोस्तो अब आप लोग तो NACH क्या है बिल्कुल अच्छे तरीके से समझ ही गए होंगे। लेकिन अब सवाल आती है क्या नाच फंड ट्रांसफर सिक्योर है? 

बात करें इसके द्वारा पैसे भेजने के बारे में तो यह पूरी तरह से सिक्योर है। जैसे की आपको मालूम होगा की इस पेमेंट सिस्टम का इस्तेमाल खुद इंडियन गवर्नमेंट करती है और इसके साथ इंडियन गवर्नमेंट की जो सहयोगी संस्थाएं हैं, वह भी इसी प्रणाली का इस्तेमाल करती हैं। 

इसलिए इस प्रणाली को ऑनलाइन पेमेंट के लिए बहुत ही सुरक्षित माना जा सकता है और यह बात साबित भी हो चुकी है क्योंकि अभी तक गवर्नमेंट ने इसी का इस्तेमाल करके खरबों रुपए लाभार्थियों के खाते में भेजे हैं।

यहा तक की जब भी कोई कम्पनी या संस्था बहुत सारे लोग से ऑनलाइन पैसे लेते है तो वे इसी प्रणाली का प्रयोग करते है। 

Telegram Group👉 Click Here
WhatsApp Group👉 Click Here
Google News 👉 Click Here

FAQs:

1. NACH की फुल फॉर्म क्या है?

NACH का फुल फॉर्म National Automated Clearing House है, इसका हिंदी अर्थ- राष्ट्रीय ऑटोमेटेड समाशोधन गृह है।

2. NPCI की फुल फॉर्म क्या है?

NPCI की फुल फॉर्म National Payments Corporation of India है।

3. बैंकिंग में नाच का क्या उपयोग है?

NACH का उपयोग पानी बिल, टेलीफोन बिल, बिजली बिल, ऋण, बीमा प्रीमियम भुगतान, निवेश आदि जैसे भुगतानों के संग्रह के लिए किया जाता है। 

Conclusion (NACH क्या है) 

इस पोस्ट ने आपने जाना NACH क्या है मुझे पूरी उम्मीद है की आपको अब NACH क्या है, NACH Full Form in Hindi का पूरा ज्ञान हो गया होगा। अगर अभी भी आपके मन NACH को लेकर कोई भी सवाल होगा तो उसे आप हमे कॉमेंट करके बता सकते है हम आपको रिप्लाई देने की पूरी कोशिश करेंगे और इस पोस्ट को 5 रेटिंग देना न भूले। 

और अगर आपको यह लेख NACH क्या है अच्छा लगा होगा तो इसे आप अपने दोस्तो और अपने सोशल मीडिया में शेयर कर सकते है। जिसके उनको भी एनएसीएच के बारे में ज्ञान होगा। साथ ही अगर आपको इसी तरह की जानकारी पसंद है तो हमारे साथ आप सोसल मीडिया पर जरूर जुड़े। 

धन्यवाद! 

हमेशा सीखते रहिए ❤️

Rate this post

About The Author

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top